Jokes > Funny Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
एक कुत्ता एक मंदिर के पास चबूतरे पर बैठा रहता था, मंदिर में लोगों को पूजा करते देख कुत्ता भी भगवान की भक्ति करने लगा। भगवान कुत्ते की भक्ति से प्रसन्न होकर बोले, "मांगो, तुम्हें क्या चाहिए?"
कुत्ता: प्रभु, मुझे अगले जन्म में कुत्ता ही बनाना।
भगवान: हम तुम्हें दो बार कुत्ता नहीं बना सकते, कुछ और मांगो।
कुत्ता: तो प्रभु मुझे अगले जन्म में किसी प्राइवेट कंपनी में काम करने वाला बना देना।
भगवान: चालाकी नहीं, कहा न कि दो बार कुत्ता नहीं बना सकते।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
Airtel Ad Girl - Acha toh tum apna Mobile Kis liyr Jyada Use karte ho
.
.
.
.
Boy - "P*RN"
.
.
Airtel Girl - Bhak sale Tharki Bye..
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
दुनिया में अभी उतनी बुराई नही फैली है
जितना हम आप सोच रहे है.!!
.
.
.
.
.
.
.
अभी भी समोसे के साथ मीठी और तीखी,
दोनो चटनी फ्री ही मिल रही है !!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
हम उस देश के वासी है जहाँ मरती
हुई किंगफिशर एयरलाइन्स को बचाने
के लिये करोड़ों रुपये का कर्जा दिया जाता है
.
.
.
.
.
.
पर मरते हुये किसान को बचाने के लिये
फूटी कौड़ी नही दी जाती।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
Employee :
“हेलो बॉस, मुझे टेररिस्ट ने पकड़ लिया है… दोनों हाथ काट दिए, आँख फोड़ दी, किडनी निकाल ली !!!”
Boss :
देख ले.... हो सके तो आजा, आज Audit है..
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
पलकों मे कैद कुछ सपनें है, कुछ अपने हैं और कुछ बेगाने हैं,
न जाने क्या कशिश है इन ख़्यालों में कुछ लोग दूर् होकर भी कितने अपने हैं।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
तेरे जल्वों ने मुझे घेर लिया है ऐ दोस्त,
अब तो तन्हाई के लम्हे भी हसीं लगते हैं।
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती हैं:

पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ खाया नहीं।

दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं?

तीसरे साल: खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना।

चौथे साल: खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाजार जा रही हूँ, खुद ही निकाल कर खा लेना।

पाँचवे साल: मैं कहती हूँ आज मुझ से खाना नहीं बनेगा, बाहर से ले आओ।

छठे साल: जब देखो खाना, खाना और खाना, अभी सुबह ही तो खाया था।

शादी के बाद पति कैसे बदलते हैं:

पहले साल: संभलकर उधर गड्ढा है।

दूसरे साल: अरे यार देख के उधर गड्ढा है।

तीसरे साल: दिखता नहीं उधर गड्ढा है।

चौथे साल: अंधी है क्या गड्ढा नहीं दिखता?

पाँचवे साल: अरे उधर -किधर मरने जा रही है गड्ढा तो इधर है।