Jokes > Funny Jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
दो बच्चे आपस में बातें कर रहे थे।
पहला बच्चा: मेरे दादा जी 50 लाख रुपये छोड़ कर मरे थे।
दूसरा बच्चा: इसमें कौन सी बड़ी बात है मेरे दादा जी सारी दुनिया छोड़ कर मरे थे।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
आज का फालतू ज्ञान:
अपनी तारीफ खुद करें क्योंकि बुराई करने के लिए बहुत से हरामखोर बैठे हैं।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
पति बालकनी में खड़ा मस्ती से गा रहा था,
"पंछी बनूँ उड़ता फिरूँ मस्त गगन में, आज मैं आज़ाद हूँ दुनिया के चमन में"।
तभी रसोई में से पत्नी की आवाज़ आई, घर में ही उड़ो। सामने वाली मायके गयी है।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
पप्पू के पड़ोस वाली आँटी ने पप्पू से पूछा,
"और बेटा क्या कर रहे हो?"
पप्पू: आँटी मैं साईंटिस्ट हूँ।
आँटी: अरे वाह, क्या बनाते हो तुम?
पप्पू: बैठे-बैठे ऑक्सीजन को कार्बन डाइऑक्साइड में बदलता हूँ।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
कुछ रिश्ते अनजाने में बन जाते हैं;
पहले दिल से फिर ज़िन्दगी से जुड़ जाते हैं;
कहते हैं उस दौर को दोस्ती;
जिसमे अनजाने ना जाने कब अपने बन जाते हैं।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है;
दोस्ती कभी बड़ी नहीं होती, निभाने वाले हमेशा बड़े होते हैं।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
सारी शिकायतों का हिसाब जोड़ कर रखा था मैंने;
दोस्त ने गले लगाकर सारा गणित ही बिगाड़ दिया।
Himaŋshʋ Gʋpta : 1 year ago
सब लोग मंज़िल को मुश्किल मानते हैं;
हम तो मुश्किल को मंज़िल मानते हैं।
बहुत बड़ा फर्क है सब में और हम में;
सब ज़िंदगी को दोस्त और हम दोस्त को ज़िंदगी मानते हैं।