Day Wishes > Good Morning - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta: 9 days ago

जब पहली बार इंसान ने मछली का शिकार किया तो मछली ने इंसान को "श्राप" दिया कि...
"हे इंसान तू भी एक दिन "Net" में फंसोगे और बाहर नहीं निकल पाओगे।"
आज मछली का श्राप सच हो गया है।
Himaŋshʋ Gʋpta: 9 days ago
एकलव्य आज जिंदा होता तो द्रोणचार्य को कोस रहा होता,
बिना अंगूठे के ना तो उसका आधार कार्ड बनता और ना जियो की सिम मिलती।
Himaŋshʋ Gʋpta: 11 days ago

कक्षा दसवीं की परीक्षा मे प्रश्न पूछा गया –
“माल्यार्पण करना” का अर्थ बताओ

होनहार छात्र ने लिखा –

सरकारी बैँकोँ द्वारा गरीब जनता की
गाढी कमाई माल्या को अर्पण
करने को ही माल्यार्पण कहते है।

और बच्चा सीधे MBA के लिये सेलेक्ट हो गया।
Himaŋshʋ Gʋpta: 11 days ago

पति का नाम भले ही शंकर हो लेकिन...
.
.
.
.
.
.
.
.
तांडव हमेशा पत्नी ही करती है।
Himaŋshʋ Gʋpta: 11 days ago
हिंदी की कक्षा में:
मास्टर: कविता और निबंध में अंतर बताओ।
पप्पू: गर्लफ्रेंड के मुँह से निकला एक शब्द भी कविता के समान होता है और पत्नी के मुँह से निकला एक ही शब्द निबंध के समान होता है। :d
Himaŋshʋ Gʋpta: 12 days ago

नाच लो गा लो हमारे साथ;
आया है बैसाखी का त्यौहार;
मना लो खुशियाँ सबके साथ;
आई है अब मौजों की बहार;
मुबारक हो आपको बैसाखी का त्यौहार।
Himaŋshʋ Gʋpta: 12 days ago

खत्म हुई अब फसलों की राखी;
नाचो, गाओ ख़ुशी मनाओ;
ख़ुशी का त्यौहार देखो आई बैसाखी।
बैसाखी की आप सभी को हार्दिक बधाई!
Himaŋshʋ Gʋpta: 12 days ago

खालसा मेरो रूप है ख़ास;
खालसे मैं हौं करूँ निवास;
खालसा मेरो मुख है अंगा;
खालसे के हौं हौं सदा सदा संगा।
खालसे के साजना दिवस की आप सब को बधाई!