Hindi jokes - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
कार चलाते हुए संता को आगे एक्सिडेंट जोन का बोर्ड दिखा.
बोर्ड देखकर संता बोला: हद है यार, यह लोग एक्सिडेंट जोन में क्यों रोड बनाते हैं !!!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
टीचर (गुस्से में): तुम कॉलेज क्यों आते हो?
सोनू: विद्या की खातिर सर.
टीचर: तो अब सो क्यों रहे थे?
सोनू: वो सर आज विद्या आई नहीं है ना…!!!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
एक महिला अपनी सहेली के साथ विदेश घूमने गई. सड़कों पर घूमते हुए उसने देखा कि एक विदेशी महिला ने अपने प्रेमी को खिड़की से बाहर धक्का दे दिया और वो नीचे कूड़ेदान में जा गिरा.
यह देखकर वह महिला बोली: यह विदेशी लोग भी ना बहुत फिजूल खर्च करते हैं.
सहेली: अच्छा, तुझे कैसे पता?
महिला: अब देखो ना, यह आदमी अभी और चार-पांच साल चल सकता था!!!
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
लड़की को पटाने में डर नहीं लगता साहब
डर तो बस इस बात से लगता है कि कहीं वह पट गई तो खर्चा कौन करेगा
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
पप्पू (डेट पर अपनी गर्लफ्रेंड से): ये मेरी पहली डेट है.
अगर कुछ गलती-वलती हो जाए तो प्लीज छोटा भाई समझकर माफ कर देना.
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
अर्ज किया है
दूर से देखा तो किताबें नजर आईं
गौर फरमाइएगा
दूर से देखा तो किताबें नजर आईं.
.
.
.
.
.
.
बस यार आगे जाने की हिम्मत ही नहीं हुई फिर.
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
चिंटू: यार एक बात बता, अगर ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ की जगह ‘प्रिंसिपल ऑफ द ईयर’ फिल्म बनती तो?
बंटू: तो क्या,
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ को SOTY कहते थे ‘प्रिंसिपल ऑफ द ईयर’ को POTY कहेंगे.
Himaŋshʋ Gʋpta : 2 years ago
वह तो medical science पर लड़कियों का जोर नहीं चलता, वरना वे तो Dispirin लेने भी जाएँ तो chemist से कहें …

.

.

“भैया, इसमें और कोई color दिखाओ ना !!!”