काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी; टूटे ना क... - HindiJokes.Mobi
Himaŋshʋ Gʋpta: 10 months ago

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी;
टूटे ना कभी डोर विश्वास की;
छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी;
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें!